yahi hai chitrakoot

yahi hai chitrakoot

चित्रकूट की एक सुहानी शाम

चित्रकूट की एक सुहानी शाम

चित्रकूट की एक सुहानी शाम

चित्रकूट की एक सुहानी शाम

हे मंगलमय दीपमालिके आपका सुस्‍वागतम

हे मंगलमय दीपमालिके आपका सुस्‍वागतम

चित्रकूट की एक शाम

चित्रकूट की एक शाम

Wednesday, April 3, 2013

राम भजन से शायद हमारे भी दिन बहुरें

हाकिम नकारा, हरि हर सहारा..

- कैथी गांव में चौथे दिन भी जारी रही रामधुन, दूसरे गांव के लोग भी आ रहे साथ देने

- चार चार घंटे की पाली में होता है भजन, आठ घंटे हैं महिलाओं के लिए आरक्षित

हमीरपुर, निज प्रतिनिधि : हरि हर का नाम चौबीसों घंटे जप रहे भरुआ सुमेरपुर ब्लाक के गांव कैथी के निवासियों का उत्साह अब और बढ़ता दिखाई दे रहा है। क्योंकि अब उनका साथ देने के लिए गाव के मुखिया तो सामने आ ही चुके हैं साथ ही आसपास के गांवों के लोग इसलिए आ रहे हैं कि शायद इस गांव के बाद उनका भी नम्बर लग जाए। गांव की समस्याओं को लेकर कैथी में चल रहे इस अनोखे आंदोलन को देखने के साथ ही सहभाग करने का काम किसवाही, मौहार व धुंधपुर के लोग कर रहे हैं।

दूसरे गांव के ग्रामीणों का कहना है कि इस आंदोलन में सहभाग करने के दो फायदे हैं। समस्याओं का निस्तारण तो राम जी कर ही देंगे साथ ही आगे की लड़ाई के लिए ऊर्जा भी उन्हीं से मिलेगी।

ग्राम प्रधान वासुदेव निषाद भी पिछले दो दिन से राम भजन करने में लगे हैं। उनका कहना है कि उनके बूते में जो है वह तो कर ही रहे हैं। कई बार बिजली विभाग के अधिकारियों के साथ ही पीडब्लूडी व अन्य विभागीय अधिकारियों के साथ बात की, पर हर जगह आश्वासन के अलावा कुछ नही मिला। अब जब गांव के मंदिर में राम राम चालू ही हो गई है तो फिर पीछे क्यों रहा जाए। सबके साथ मिलकर ही गांव की समस्याओं का निदान भगवान की शरण में जाकर ढूंढा जा रहा है।

गांव के अरिमर्दन सिंह ने बताया कि भजन करने के लिए चार चार घंटे सभी ने बांट रखें हैं। सुबह के चार घंटे व शाम के चार घंटे महिलाओं की जिम्मेदारी रहती है, व दिन भर गांव के लोग राम राम करते हैं। बताया कि एक बार में पचास से पचहत्तर लोग जुटते हैं। प्रभारी जिलाधिकारी रमेश चंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि कैथी गांव में राम धुन गूंज रही है। इसकी उन्हें सूचना है। गांव में पीडब्लूडी के अधिकारियों को भेजकर सड़क का सर्वे करा लिया गया है। बिजली विभाग के अलावा राजस्व व अन्य अधिकारी भी गांव में जल्द जाकर समस्याओं के चिह्नीकरण करने का काम करेंगे।

No comments:

Post a Comment