yahi hai chitrakoot

yahi hai chitrakoot

चित्रकूट की एक सुहानी शाम

चित्रकूट की एक सुहानी शाम

चित्रकूट की एक सुहानी शाम

चित्रकूट की एक सुहानी शाम

हे मंगलमय दीपमालिके आपका सुस्‍वागतम

हे मंगलमय दीपमालिके आपका सुस्‍वागतम

चित्रकूट की एक शाम

चित्रकूट की एक शाम

Wednesday, April 3, 2013

विकास की चाह में गुम हुए बेरी और कैथी

संदीप रिछारिया,हमीरपुर: समस्याओं को लेकर इस साल जिले के दो विकास खंडों के गांवों में हुए आंदोलनों ने प्रशासन को हिला कर रख दिया।

कुरारा ब्लाक में कुरारा से लेकर बेरी तक की लगभग 14 किलोमीटर सड़क का हाल पिछले दस सालों से खराब है। इस सड़क को लेकर चुनाव में भाग्य अजमाने वाले हर प्रत्याशी ने बनवाने का वादा किया, जो चुनावी जीत तक सीमित रहा। इस बार के विधानसभा चुनाव के दौरान सड़क नहीं तो वोट नहीं का नारा दे ग्रामीणों ने चुनाव बहिष्कार की घोषणा कर दी, तो प्रशासन के हाथ पैर फूल गए। प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे और आश्वासन दे किसी तरह ग्रामीणों को मनाया। अफसोस रहा कि विधायक साध्वी निरंजन ज्योति ने विधानसभा में समस्या को लेकर प्रश्न उठाया व सपा जिलाध्यक्ष ज्ञान सिंह ने सरकार से गुजारिश की तो सड़क की स्वीकृति होने के साथ रकम भी मिल गई, लेकिन अभी तक टेंडर नहीं निकाले जा सके हैं।

इधर कैथी गांव का हाल तो और बुरा था। केन और चंद्रावल नदी के दोआबा में बसा 6 हजार आबादी का गांव प्रशासनिक लापरवाही का नमूना है। ग्रामीण पिछले पांच दशकों से हर नेता के वादे सुनते और वोट देकर यह सोचते कि शायद अबकी कुछ उद्धार हो जाए, पर बात बनी नही। हार थक कर वह गांव के शिव मंदिर में राम का नाम लेने बैठ गए। अधिकारी पहुंचे, भाजपा व कांग्रेस के नेता पहुंचे। आधे गांव को बिजली मिली, भैंस बांधे जाने वाले अस्पताल को नर्स मिली पर नही मिल सकी ,चंद्रावल नदी में नंगे खड़े पुल को सड़क, हां इस आंदोलन की एक प्रमुख बात भोला दर्जी की कुर्बानी भी रही। जिसे पूरा गांव श्री राम नाम संकीर्तन आंदोलन का शहीद पूरा गांव मानता है।

क्या कहते हैं जन नेता

कैथी व बेरी की समस्या को विधानसभा में उठाने के साथ ही लगातार इन समस्याओं को सुलझाने की लड़ाई लड़ती रहूंगी।

विधायक साध्वी निरंजन ज्योति।

बेरी की सड़क के लिए तमाम लिखा पढ़ी कर सड़क निर्माण की रकम मंगवाई है। कैथी गांव अभी तक व्यस्तता के कारण नहीं जा सका। अब कैथी में प्रभारी मंत्री को लेकर जाउंगा और गांव वालों की समस्या का निदान करुंगा।

ज्ञान सिंह यादव, सपा जिलाध्यक्ष।

दोनों स्थानों की समस्याओं को सुलझाने का प्रयास लगातार जारी है। जल्द ही बेरी गांव की सड़क के टेंडर आ जाएंगे, व कैथी के मार्ग के लिए भी शासन से स्वीकृति आ जाएगी।

रमेश चंद्र श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी।

No comments:

Post a Comment