yahi hai chitrakoot

yahi hai chitrakoot

चित्रकूट की एक सुहानी शाम

चित्रकूट की एक सुहानी शाम

चित्रकूट की एक सुहानी शाम

चित्रकूट की एक सुहानी शाम

हे मंगलमय दीपमालिके आपका सुस्‍वागतम

हे मंगलमय दीपमालिके आपका सुस्‍वागतम

चित्रकूट की एक शाम

चित्रकूट की एक शाम

Wednesday, April 3, 2013

विकास के वास्ते राम के रास्ते

हमीरपुर, निज प्रतिनिधि : राम का नाम लेते हुए गुरुवार को कैथीवासियों नवां दिन भी गुजर गया। न चेहरे पर थकान, न चिंता और न ही किसी तरह का दुराव, हा अगर कुछ यहां पर दिखाई दे रहा है तो वह आत्मविश्वास से भरे ओज भरे वह चेहरे जिनको अब पूरा भरोसा है कि आज नहीं तो कल अखिलेश भैया जरुर गांव के शिव मंदिर पर बैठकर राम राम करेंगे।

उत्साहित गांव के लोग बताते हैं कि गांव की रिश्तेदारियां प्रदेश के तमाम जिलों व बाहर भी हैं। देश के अन्य इलाकों व देश से बाहर से गांव के निवासियों के पास अब फोन आने प्रारंभ हो गए हैं। फोन करने वाला हर एक शक्स केवल एक ही बात करता है कि भइया राम का नाम लेते रहना। गांव में न केवल अखिलेश आएंगे बल्कि गांव की सड़क और बिजली भी आएगी। जिसके बाद गांव का विकास अपने आप हो जाएगा।

गांव के अरिमर्दन सिंह, विकास शिवहरे,रज्जन आदि लोग कहते हैं कि गांव का विकास चाहे जब हो पर एक बात तो साफ हो गई है कि इस राम राम यज्ञ ने लोगों के दिलों के अंदर की खाईयों को पाटने का काम किया है। सामूहिकता की जो भावना गांव में जन्मी है वह आने वाले समय के लिए अच्छी शुरूआत है। उन्होंने कहा कि गांव का विकास तो मुद्दा सर्वोपरि है और अब उस पर काम भी सरकारी अमले ने करना प्रारंभ कर दिया है। कहा कि जानकारी मिली है कि एसडीएम सदर आशुतोष निरंजन भी गुरुवार को गांव में आकर समस्याओं को देखने का काम करेंगे। कहा कि गांव में आकर समस्याओं को देखने की सरकारी अधिकारियों की पहल एक अच्छी प्रक्रिया है पर वादों और दावों के बाद जब गांव के विकास के काम हो जाएं तब समझ में आए। उन्होंने कहा कि कोई आए कोई जाए इससे अब कोई फर्क नही पड़ता क्योंकि सभी ग्रामीणों का संकल्प केवल अखिलेश भैया को गांव में बुलाने का है और सभी को विश्वास है कि वह एक दिन गांव जरूर आएंगे।

विधायक ने किया फोन

सदर विधायक साध्वी निरंजन ज्योति ने गांव में बुधवार की देर रात चल रही रामधुन के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि अभी उनकी तबियत खराब है और वह मूसानगर में हैं। वैसे गांव में बिजली जलवाने के लिए अपनी निधि से इस्टीमेट बनवाकर वह जुलाई के महीने में ही विभाग को भेज चुकी हैं। जल्द स्वस्थ होने पर वह गांव में पहुंचकर गांव की समस्याओं को लेकर जनता का साथ देंगी।

No comments:

Post a Comment