yahi hai chitrakoot

yahi hai chitrakoot

चित्रकूट की एक सुहानी शाम

चित्रकूट की एक सुहानी शाम

चित्रकूट की एक सुहानी शाम

चित्रकूट की एक सुहानी शाम

हे मंगलमय दीपमालिके आपका सुस्‍वागतम

हे मंगलमय दीपमालिके आपका सुस्‍वागतम

चित्रकूट की एक शाम

चित्रकूट की एक शाम

Wednesday, April 3, 2013

राम की लगन में हुए मगन तो भूले गम

हाकिम नकारा, हरि हर सहारा..

- कैथी गांव के शिव मंदिर में 19 दिनों से जारी है रामधुन

- मुख्यमंत्री के आने की तैयारी

करने में जुटे हुए हैं लोग

हमीरपुर, निज प्रतिनिधि : अब तो ऐसा लगाता है कि मानो स्वयं राम ही कैथी की जमीं पर उतर आए हों। जहां शाम होते ही लोग घर बंद कर कैद हो जाया करते थे, वहां की रातें अब गुलजार हो रही हैं। पुरुष हो या महिला रात को भी गांव की गलियों में टहलती और रामधुन का आनंद लेते दिखाई देती हैं। वैसे तो जिले के हर गांव में रोज ही शाम होती है पर कैथी गांव में तो शाम का आनंद ही कुछ और होता है। गांव के बुजुर्ग बच्चों को न केवल रामधुन में बैठने के लिए प्रेरित करते दिखाई देते हैं बल्कि उन्हें श्री राम चरित मानस की चौपाईयों से अंताक्षरी खेलना भी सिखा रहे हैं।

गांव की महिलाएं कमला कुशवाहा,रानी यादव, माया शिवहरे, साधना सिंह, वंदना, भुलिया आदि कहती है कि ऐसा माहौल जब से ब्याह के आई देखा नही। सुबह हो या शाम भगवान के नाम जप की चर्चा। उन्होंने कहा कि आज तो हमारा गांव अयोध्या या चित्रकूट सा दिखाई देता है। जहां पर हर क्षण केवल भगवान की न केवल चर्चा होती है बल्कि कानों में भी भगवान का नाम रस घोलता रहता है। बड़े ही गर्व से कहती हैं कि अब हमारे गांव में सास बहू की बुराई का पुराण खत्म हो चुका है।

 उधर गांव के बुजुर्ग उम्मेद सिंह, पूर्व प्रधान राम प्रकाश निषाद, पूर्व प्रधान काशी प्रसाद गुप्ता, पूर्व प्रधान अजय पाल सिंह,बलराम सिंह, जागेश्वर खरे, क्षेत्र पंचायत सदस्य शिव चरण कुशवाहा, चंदा कुशवाहा, बृज किशोर, राम पाल श्रीवास आदि लोगों ने कहा कि अब कोई चिंता नही है। गांव की पीढ़ी को सुधारने का इससे अच्छा कोई जरिया नही हो सकता। अब तो गांव के छोटे बच्चे भी श्री राम चरित मानस की कथा के बारे में पूंछतांछ करने लगे हैं। यह हमारे लिए बड़े सौभाग्य की बात है।

उधर मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर गांव में तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। घरों में लाल रंग के झंडे व दीवारों पर रामायण की चौपाइयां लोग अपने आप लिख रहे हैं। अरिमर्दन सिंह व विकास शिवहरे कहते हैं कि इस समय पूरा गांव उत्साह में हैं। इसलिए गांव का हर व्यक्ति अपने प्रिय मुख्यमंत्री के आगमन की बाट जोह कर उनका स्वागत अपने अंदाज में करना चाहता है।

No comments:

Post a Comment